सभी बारह राशियों के स्वामी, देवता, अक्षर और रत्न की जानकारी

On,


क्या आप जानते है बारह राशियों के स्वामी, देवता, अक्षर और रत्न क्या हैं ? भारत में हर कोई अपने राशीभविश्य जानने को उत्सुक होता है। हर कोई अपने भविष्य को उज्जवल बनाने के लिए अपने राशि  के हिसाब से योग्य रत्न भी पहनना चाहता है ताकि सभी ग्रहमान अपने मुताबिक हो और हमें इच्छित फलप्राप्ति हो सके।

आज इस लेख में हम आपको बारह राशियों के स्वामी, देवता, अक्षर और रत्न आदि की जानकारी देने जा रहे हैं। इसे पढ़कर आप आपकी राशि कौन सी है और आपके राशि के अनुसार आपने कौनसे रत्न परिधान करना चाहिए या कौनसे देवता को प्रसन्न करना चाहिए इसकी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

बारह राशियों के स्वामी, देवता, अक्षर और रत्न की जानकारी निचे दी गयी हैं :

rashifal-astrology-in-hindi

सभी बारह राशियों के स्वामी, देवता, अक्षर और रत्न की जानकारी

Rashifal / Astrology in Hindi

बारह राशियों के अक्षर क्या हैं ?

  1. मेष राशि चू,चे,चो, ला, ली, लू, ले, लो,
  2. वृष राशि- , ,, , वा,वी, वू,वे, वो
  3. मिथुन राशि का, की, कू,,,,के, को,
  4. कर्क राशि – ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू,डे,डो
  5. सिंह राशि- मा, मी,मू,मे,मो,टा,टी, टू, टे
  6. कन्या राशि- टो,,पी, पू,,,,पे, पो
  7. तुला राशि – रा, री, रू,रे, रो, ता,ती, तू, ते
  8. वृश्चिक राशि – तो, ना, नी,नू,ने, नो, या, यी,यू
  9. धनु राशि ये, यो, ,भी, भू, ,,,भे
  10. मकर राशि - भो,जा, जी, खी,खू,खे, खो, ,गी
  11. कुंभ राशि – गू, गे,गो, सा, सी, सू,से, सो,
  12. मीन राशि – दी, दू,,,,दे, दो, चा,ची अक्षर आते हैं

सभी राशियों के स्वामी, देवता, रत्न और रुद्राक्ष की जानकारी

मेष राशि
मेष राशि का स्वामी ग्रह मंगल माना जाता है। भगवान श्री गणेश को मेष राशि का आराध्य देव माना जाता है। शुभ रत्न: मूंगा, शुभ रुद्राक्ष: तीन मुखी रुद्राक्ष,

वृषभ राशि
वृषभ का राशि का स्वामी ग्रह शुक्र है। इस राशिवालों के लिए शुभ दिन शुक्रवार और बुधवार होते हैं। कुलस्वामिनी को वृषभ राशि का आराध्य माना जाता है। शुभ रत्न: हीरा, शुभ रुद्राक्ष: छह मुखी रुद्राक्ष,

मिथुन राशि
मिथुन राशि का स्वामी ग्रह बुध होता है। इस राशि के जातक बेहद समझदार होते हैं। मिथुन राशि के आराध्य देव कुबेर होते हैं। शुभ रत्न: पन्ना, शुभ रुद्राक्ष: चार मुखी रुद्राक्ष,

कर्क राशि
कर्क राशि का स्वामी ग्रह चंद्रमा है। भगवान शंकर को कर्क राशि का आराध्य देव माना जाता है।
शुभ रत्न: मोती, शुभ रुद्राक्ष: दो मुखी रुद्राक्ष,

सिंह राशि
सिंह राशि का स्वामी ग्रह सूर्य है। इस राशि के लोग किसी के सामने झुकना नहीं पसंद नहीं करते हैं। सिंह राशि के आराध्य देव भगवान सूर्य होते हैं। सिंह राशि के लिए शुभ रत्न: माणिक्य, शुभ रुद्राक्ष:एक मुखी रुद्राक्ष,

कन्या राशि
कन्या राशि के जातक बेहद धार्मिक प्रवृत्ति के होते हैं। मान्यता है कि कन्या राशि के आराध्य देव कुबेर जी होते हैं।  शुभ रत्न: पन्ना,शुभ रुद्राक्ष: चार मुखी रुद्राक्ष,

तुला राशि
तुला राशि के जातक भोले स्वभाव के होते हैं। कुलस्वामिनी को तुला राशि का आराध्य माना जाता है। शुभ रत्न: हीरा, शुभ रुद्राक्ष: छह मुखी रुद्राक्ष,

वृश्चिक राशि
वृश्चिक राशि का स्वामी ग्रह मंगल है। वृश्चिक राशि के जातकों के आराध्य देव गणेश जी होते हैं।शुभ रत्न: माणिक्य, शुभ रुद्राक्ष: तीन मुखी रुद्राक्ष,

धनु राशि
धनु राशि का स्वामी ग्रह "गुरु" को माना जाता है। धनु राशि के आराध्य देव "दत्तोत्रय" होते हैं। शुभ रत्न: पुखराज, शुभ रुद्राक्ष: पांच मुखी रुद्राक्ष,

मकर राशि
मकर राशि का स्वामी ग्रह शनि होता है। भगवान शनि देव और हनुमान जी को मकर राशि का आराध्य देव माना जाता है। शुभ रत्न: नीलम, शुभ रुद्राक्ष: सात मुखी रुद्राक्ष,

कुम्भ राशि
कुंभ राशि के जातक बेहद गुस्सैल किस्म के होते हैं। भगवान शनि देव और हनुमान जी को कुंभ राशि का आराध्य देव माना जाता है। शुभ रत्न: नीलम, शुभ रुद्राक्ष: सात मुखी रुद्राक्ष,

मीन राशि
मीन राशि के जातक बेहद शांत स्वभाव के और मेहनती होते हैं। मीन राशि के आराध्य देव "दत्तोत्रय" होते हैं।शुभ रत्न: मूंगा, शुभ रुद्राक्ष: पांच मुखी रुद्राक्ष,

आशा है आपको यह जानकारी उपयोगी लगी होगी और इसे आप शेयर भी करेंगे !

logo

No comments:

Post a Comment