मोबाइल पानी में गिर जाने पर क्या करे ?

On,


आज कल 4G का जमाना है और लोग साधारण फोन लेने की जगह महंगे स्मार्टफोन लेना पसंद करते हैं। फोन चाहे कितना भी महंगा क्यों न हो अगर वह वाटरप्रूफ नहीं रहा तो एक बार भी पानी गिर जाने पर ख़राब हो सकता हैं। आजकल तो लोग बाथरूम में भी अपने मोबाइल को नहीं छोड़ते हैं जिसके चलते मोबाइल पानी में गिरने का प्रमाण भी बढ़ चूका हैं। 

बारिश के मौसम में लोगों की सबसे बड़ी चिंता यह होती है कि मोबाइल को बारिश से कैसे बचाएं। उन्हें हर वक्त यह डर सताता रहता है कि कहीं उनका फोन पानी के कारण खराब ना हो जाए। दिलचस्प बात यह है कि काफी सारे लोग ऐसा होने से बचने के लिए अपने फोन को पॉलिथीन या फिर किसी वाटर प्रूफ बैंक में छिपा कर रखते हैं, लेकिन ऐसा करना हर वक्त मुनासिब नहीं होता। 

अगर आपका प्यारा स्मार्टफोन कभी इस तरह पानी से गिला हो जाये तो उसे किस तरह से बचाया जा सकता है इसकी विशेष जानकारी आज हम देने जा रहे हैं। पानी गिर जाने पर तुरंत क्या-क्या करना चाहिए इसकी जानकारी निचे दी गयी हैं :


how-to-save-wet-mobile-in-hindi

मोबाइल पानी में गिर जाने पर क्या करे ? 

How to save a wet mobile phone in Hindi

आज इस लेख में हम आपको कुछ ऐसे टिप्स बताएंगे जिनके जरिए आप पानी में भीगे अपने फोन को आसानी से सुखाकर पहले की तरह इस्तेमाल में ला सकते हैं। फिर चाहे फोन मूसलधार बारिश में भीगा हो या फिर वह धोखे से पानी की बाल्टी में गिर गया हो ! सब कुछ बेहद आसानी से ठीक हो जाएगा। यानि आपका फोन सुख कर पहले की तरह काम करने लगेगा। 

Mobile pani me gir jane par kya kare ?

  • फोन स्विच ऑफ कर दें : जब भी आपका फोन पानी में भीग जाये तो आप सबसे पहले उसे स्विच ऑफ कर दें क्योंकि अगर फोन ऑन है तो पानी इंटरनल किसी भी हिस्से में जा सकता है जिससे शॉर्ट सर्किट के आसार बढ़ जाते हैं। मोबाइल पानी से भिज जाने पर उसके बटन को चेक करने की कोशिश ना करें। फोन स्विच ऑफ करने में समझदारी है और उसके बाद फोन की बैटरी अलग कर दें। अगर बैटरी नॉन रिमूवेबल हो जैसे Nokia, Lumia, Iphone, Oppo आदि तो ऐसे में पॉवर ऑफ करना ही विकल्प होता है। नॉन रिमूवेबल बैटरी फोन में शार्ट सर्किट का खतरा ज्यादा होता है। 
  • यह चीजें अलग करें : फोन को स्विच ऑफ कर ना इसलिए जरूरी है क्योंकि इससे आने वाले पॉवर को कट कर दिया जाता है। इस के बाद फोन में सिम कार्ड, मेमोरी कार्ड, फोन कवर आदि सब अलग कर दें। सभी अलग की गई चीजों को टिशू पेपर या अखबार से साफ करें। ऐसा करने से पानी के साथ नमी भी ख़त्म हो जाती है। टिश्यू या अखबार से साफ करने के अलावा आप उसे किसी नरम तौलिये का भी इस्तेमाल कर सकते हैं ताकि फोन में गया हुआ पानी पूरी तरह से साफ हो जाए। 
  • नमी पूरी तरह से हटाए : टिशू, अखबार या तोलिए से साफ करने के बाद फोन और उसके सभी अलग किए हुए पार्ट्स को सुखने के लिए चावल में दबाकर किसी भी बर्तन में रख दें। सूखे चावल नमी को तेजी से सोख लेते हैं। सूखे चावल की जगह सिलिका जेल पैक का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। यह चावल से ज्यादा बेहतर विकल्प है। उसका इस्तेमाल जूतों के डिब्बे, नए थरमस में इस्तेमाल होता है ताकि इन में नमी नहीं आए। मोबाइल या उसके पार्ट्स को चावल या सिलिका जेल पैक में कम से कम 24 घंटे तक रखें ताकि नमी पूरी तरह से सुख जाए। नमी सोखने के बाद अगले 24 घंटे के बाद ही फोन का इस्तेमाल करें। 
  • हल्की गर्म हवा : नमी सोखने के बाद हल्के गर्म हवा का इस्तेमाल कर सकते हैं जैसे की ड्रायर, बॉयलर, रूम हीटर इन सब चीजों को दूर से इस्तेमाल करें क्योंकि यह सर्किट को नुकसान पहुंचा सकते हैं। मोबाइल का इस्तेमाल तब तक ना करें जब तक फोन की नमी पूरी तरह से सुख ना जाए। 
  • चेक करें : नमी पूरी तरह से सूख जाने के बाद इसे चेक करें। देख ले अगर हेडफोन, स्पीकर, माइक बटन, टच स्क्रीन जैसे फीचर्स ठीक तरह से काम कर रहे हैं या नहीं। अगर अब भी कोई दिक्कत आ रही है तो फिर अपने स्मार्टफोन को सर्विस सेंटर पर दिखा ले। 
इस तरह आप अपने स्मार्टफोन को पानी में गिर जाने पर खराब होने से बचा सकते हैं और घर पर ही उसे फर्स्ट ऐड कर दोबारा पहले जैसा कर सकते हैं।  

आपको यह जानकारी उपयोगी लगी है तो कृपया इसे शेयर अवश्य करें !

logo

No comments:

Post a Comment