सुप पिने के स्वास्थ्य लाभ और नियम

On,



" स्वाद और पौष्टिकता का अनोखा संगम " ऐसा हम किसी के बारे में कह सकते है तो वो है सुप (Soup)। स्वादिष्ट सुप के फायदे भी अनेक है। पारम्परिक खाने में सुप शामिल नही होता है। आजकल सुप का चलन काफी बढ़ गया है। लेकिन यह एक अच्छी आदत है। सुप का सेवन स्वस्थ और बीमार दोनों भी कर सकते है। सुप पीने से कई बीमारियों से जल्दी राहत मिलती हे तो स्वस्थ व्यक्ति अगर सुप को अपने रोजाना के diet में शामिल करे तो उसकी रोग प्रतिकारक शक्ति बढ़ती है।

सूप पिने से होनेवाले विभिन्न स्वास्थ्य लाभ की जानकारी निचे दी गयी हैं :
health-benefits-vegetable-soup-in-hindi


सुप पिने के सामान्य स्वास्थ्य लाभ

  1. सुप पौष्टिकता से भरपूर होता है क्योंकि  इसमें सब्जी का पूरा सत्व उतरता है।
  2. भूख बढ़ाने में सुप मदत करता है साथ ही यह पचने में आसान और हल्का होता है।
  3. सर्दी- जुकाम में सुप से राहत मिलती है। 
  4. गर्मागर्म सुप पीने से गले की खराश कम होती है साथ ही गला भी खुलता है।
  5. सुप बनाने में कम वक्त लगता है।
  6. सुप में पानी अधिक और वसा और कैलोरी कम होने से वजन घटाने में सहायता करता है।
ये तो हो गए सुप के सामान्य गुण। अब विभिन्न प्रकार के सुप के फायदों के बारे में जानते है।

टमाटर सुप

सुप के अलग अलग प्रकारों में यह सबसे ज्यादा पिए जानेवाला प्रकार है साथ ही इसके फायदे भी अनेक है।
  1. प्रोटीन, आयरन, फोस्परस , लाइकोपीन, बीटा कैरोटीन, विटामिन B, C आदि से युक्त टोमेटो सुप शरीर के लिए बहोत गुणकारी है।
  2. यह शरीर की रोगप्रतिकारक शक्ति बढ़ाता है। ठंड और बरसात के मौसम में काफी हेल्थी माना जाता है।
  3. शरीर के अंदर के विषाक्त तत्वों को बाहर निकालकर पाचन शक्ति बढ़ाता है।
  4. मधुमेह में इसमें मौजूद क्रोमियम की वजह से शर्करा का प्रमाण संतुलित रखने में मदत होती है।
  5. विटामिन A की वजह से रेटिना स्वस्थ रहने में सहायता मिलती है।
  6. लाइकोपीन यह ताकतवर एंटीओक्सिडेंट है । इसे नेचुरल कैंसर प्रतिरोधक घटक भी कहते है। 
  7. यह त्वचा की नुकसानदायी UV किरणों से रक्षा करता है। हर रोज टमाटर सुप पिने से त्वचा में ग्लो आता है। 
  8. इसके नियमित सेवन से LDL कोलेस्ट्रॉल और ट्रायग्लिसराईड का स्तर कम रहता है।
  9. कब्ज की परेशानी और एसिडिटी में इसके नियमित सेवन से राहत मिलती है।
  10. बुखार, दस्त और एलर्जी होने पर टोमेटो सुप लेने से परहेज करे।

मिक्स वेजिटेबल सूप 

पालक, पुदीना, चुकंदर, टमाटर, लौकी, आंवला व अदरक आदि से बने मिक्स वेजटेबल सुप में आयरन व फोस्फोरस के अलावा विटामिन B, C व D भी पाया जाता है।
  1. यह पीलिया , कब्ज, भूक बढ़ाने व आँखों के लिए लाभकारी है।
  2. यह विटामिन A, B 6, C ,E आदि से भरपूर होता है और एंटीऑक्सीडेंट का कार्य करता है। 
  3. सब्जीयों से बना होने से फाइबर का प्रमाण अधिक रहता है।
  4. चर्मरोग, शरीर में सूजन होने पर इसे न ले।
  5. अगर हाई बीपी की शिकायत हो तो नमक का प्रयोग न करे या कम करे।

लौकी का सुप

  1. इसमें कार्बोहाइड्रेट, आयरन, विटामिन B, व खनिज लवण पाये जाते है।
  2. पचने में हल्का होने के कारण यह पेट सम्बन्धी परेशानिया जैसे पेट में भारीपन, भूक न लगना या लिवर सम्बन्धी परेशानियो में लाभकारी है।
  3. इसके अलावा यह पित्तशामक और खून बढ़ानेवाला होता है।
  4. यह कोई भी व्यक्ति ले सकता है।

खजूर आँवला सुप

  1. पिंड खजूर व आँवला से निर्मित इस सुप में प्रचुर मात्रा में आयरन, खनिज लवण, विटामिन C व D पाये जाते है।
  2. आंवले से बना होने से यह एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होता है।
  3. यह शारीरिक दुर्बलता, हृदय रोग, नेत्र की कमजोरी दूर करने में सहायक है।
  4. दस्त या बदहजमी होने पर इसका प्रयोग न करे।

सुप पीने का सही तरीका

  1. सुप को हमेशा भोजन के पहले ले।
  2. अगर आप सुबह के समय इसे ले रहे हो तो नाश्ते के पहले ले। खाली पेट सुप पीना सेहत के लिए नुकसानदायक हो सकता है।
  3. इसे लेने के 1 घण्टे पहले या बाद में चाय, कॉफी या दूध न ले। इससे पेट में एसिडिटी या अन्य प्रकार की दिक्कत हो सकती है।
  4. अगर आपको भूक नही लगती है, तो सुप पीना शुरू करे। इससे धीरे धीरे भूक खुलकर लगने लगेगी।
  5. सुप पीने का सही समय खाना खाने के पहले पिए।
  6. जहाँ तक सम्भव हो सुप हमेशा ताजा और गरम पीये। 
  7. एक दिन से ज्यादा बना हुआ सुप न पिए क्योंकि इसमें बैक्टीरिया पनपने का खतरा होता है।
  8. बाजार में बिकने वाले रेडीमेड, इंस्टेंट सुप लोग पसन्द करते है लेकिन घर पर बनने वाले सुप की बात ही निराली होती है। यह कई माईनो में बाजार के और रेडीमेड सुप से बेहतर होता है।
इस तरह आप अलग अलग प्रकार के सुप को अपनी दिनचर्या में शामिल कर अपनी सेहत में चार चाँद लगा सकते है।
अगर यह जानकारी आपको उपयोगी और महत्वपूर्ण लगती है तो शेयर अवश्य करे !

logo

No comments:

Post a Comment