वास्तु से जुडी कुछ उपयोगी जानकारी


हम सभी जानते हैं की आज के आधुनिक युग में लोग लोग भले ही खुद को modern कहलाना पसंद करते है पर बात जब नए घर की हो तो सब की कोशिश यह होती है की उनका घर वास्तु और शास्त्रों के हिसाब से ठीक होना चाहिए। जहाँ लोग नए कंप्यूटर को चालू करने से भी पहले उसे तिलक लगाते है वहाँ वास्तु का अपना एक बेहद महत्व हैं।

आज हम यहाँ पर वास्तु से जुडी कुछ महत्वपूर्ण जानकारी दे रहे हैं। हमारा मकसद किसी भी तरह का अंधविश्वास फैलाने का नहीं हैं। अगर आप वास्तु में विश्वास करते हैं तो अपने घर में निचे दी हुई बातों का ख्याल रखे :

  1. घर में सुबह-सुबह कुछ देर के लिए भजन अवशय लगाएं ।
  2. घर में कभी भी झाड़ू को खड़ा करके नहीं रखें, उसे पैर नहीं लगाएं, न ही उसके ऊपर से गुजरे अन्यथा घर में बरकत की कमी हो जाती है। झाड़ू हमेशा छुपा कर रखें। 
  3. बिस्तर पर बैठ कर कभी खाना न खाएं, ऐसा करने से बुरे सपने आते हैं।
  4. घर में जूते-चप्पल इधर-उधर बिखेर कर या उल्टे सीधे करके नहीं रखने चाहिए इससे घर में अशांति उत्पन्न होती है।
  5. पूजा सुबह 6 से 8 बजे के बीच भूमि पर आसन बिछा कर पूर्व या उत्तर की ओर मुंह करके बैठ कर करनी चाहिए । पूजा का आसन जुट अथवा कुश का हो तो उत्तम होता है |
  6. पहली रोटी गाय के लिए निकालें। इससे देवता भी खुश होते हैं और पितरों को भी शांति मिलती है। 
  7. पूजा घर में सदैव जल का एक कलश भरकर रखें जो जितना संभव हो ईशान कोण के हिस्से में हो। 
  8. आरती, दीप, पूजा अग्नि जैसे पवित्रता के प्रतीक साधनों को मुंह से फूंक मारकर नहीं बुझाएं।
  9. मंदिर में धूप, अगरबत्ती व हवन कुंड की सामग्री दक्षिण पूर्व में रखें अर्थात आग्नेय कोण में। 
  10. घर के मुख्य द्वार पर दायीं तरफ स्वास्तिक बनाएं |
  11. घर में कभी भी जाले न लगने दें, वरना भाग्य और कर्म पर जाले लगने लगते हैं और बाधा आती है।  
  12. सप्ताह में एक बार जरुर समुद्री नमक अथवा सेंधा नमक से घर में पोछा लगाएं। इससे नकारात्मक ऊर्जा हटती है। 
  13. कोशिश करें की सुबह के प्रकाश की किरणें आपके पूजा घर में जरुर पहुचें। 
  14. सबसे पहले पूजा घर में अगर कोई प्रतिष्ठित मूर्ती है तो उसकी पूजा हर रोज निश्चित रूप से हो, ऐसी व्यवस्था करे। 

0 comments:

Post a Comment

Share अवश्य करे !

जरूर पढ़े !